एमएस धोनी के नाम पर दर्ज है 5 वर्ल्ड रिकॉर्ड, नंबर 1 को कोई नही तोड़ सकता

0

महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट जगत में अपना एक अलग ही मुकाम बना लिया है, जिसमें वह आने वाले कई वर्षों तक सभी के लिए प्रेरणा का काम करने वाले हैं। जिस तरीके से बल्ले और विकेट के पीछे धोनी ने लगातार कमाल दिखाया है उसकी तारीफ हर समय होती रही है।

धोनी ने अपने करियर के 5 वें मैच में ही पहला रिकॉर्ड बना दिया था और आज तक इस विकेटकीपर बल्लेबाज़ ने रिकॉर्ड्स बनाना नहीं छोड़ा है। गांगुली, सचिन, द्रविड और लक्ष्मण जैसे दिग्गज़ो को टीम में होने के बावजूद धोनी ने सिर्फ 2 के अंदर टीम में अपनी जगह को पक्का कर लिया और करियर के तीसरे साल उन्हें टीम का कप्तान बना दिया गया था।

चाहे बल्लेबाज़ी, गेंदबाज़ी, विकेटकीपिंग या फिर कप्तानी की बात हो धोनी सभी में पूरी तरह से खरे साबित हुए और उन्होंने 5 ऐसे रिकॉर्ड बना दिए जो शायद आने वाले काफी समय तक किसी के लिए तोड़ पाना आसान नहीं होने वाला हैं।

#5 अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक स्टम्पिंग करने का रिकॉर्ड

अपने 10 साल से अधिक लम्बे अंतरराष्ट्रीय करियर में विकेटकीपर बल्लेबाज़ महेंद्र सिंह धोनी के नाम पर मौजूदा समय में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे अधिक स्टम्पिंग करने का रिकॉर्ड हैं, तीनों ही फार्मेट में मिलाकर।

इसके अलावा धोनी के नाम पर सबसे तेज़ स्टम्पिंग 0.09 सेकेंड्स के अंदर करने का रिकॉर्ड हैं।

#4 वनडे में सबसे अधिक नॉट ऑउट रहना

अभी तक धोनी वनडे क्रिकेट में 84 बार नॉट ऑउट रहे हैं, जो इस फार्मेट में किसी भी बल्लेबाज़ का सबसे अधिक नाबाद रहने का रिकॉर्ड हैं और इसी कारण धोनी को विश्व क्रिकेट का सबसे शानदार फिनिशर कहा जा सकता है।ms-dhoni-india

#3 एक विकेटकीपर के तौर पर सबसे अधिक गेंदबाज़ी करना

अभी तक अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 9 मैचो में धोनी ने गेंदबाज़ी की है, जो किसी भी विकेटकीपर का गेंदबाज़ी करने का सबसे अधिक हैं। दूसरे नंबर पर इंग्लैंड के विलियम स्टोरर हैं, जिन्होंने 4 बार गेंदबाज़ी की है।

धोनी ने अभी तक खेले अपने अंतरराष्ट्रीय मैचो में 132 गेंदे डाली हैं जिसमें वह सिर्फ 1 विकेट ही हासिल कर सके हैं। धोनी के अलावा 6 और विकेटकीपर हैं, जिन्होंने 1 या उससे अधिक ओवर अपने करियर में डाले हैं।

#2 क्रिकेट इतिहास का सबसे महंगा बल्ला

साल 2011 के विश्वकप में जिस बल्ले से महेंद्र सिंह धोनी ने विजयी शॉट लगाया था, उसकी निलामी 10000 लाख यूरो लगभग 80 से 85 लाख रूपये में लंदन में हुई थी। इस पैसे को बाद में साक्षी धोनी फाउंडेशन में प्रयोग किया गया था।

यह बल्ला अभी तक के इतिहास में सबसे महंगा साबित हुआ था।

#1 एक कप्तान के तौर पर 3 आईसीसी ट्रॉफियां जीतना

धोनी ने भारतीय टीम की कप्तानी करते हुए तीन आईसीसी ट्रॉफियां जीती हैं, जिसमें सबसे पहले आईसीसी टी20 विश्वकप को 24 सितम्बर 2007 को अपनी कप्तानी में जीता, उसके बाद 2 अप्रैल 2011 में आईसीसी वनडे विश्वकप अपनी कप्तानी में जितवाया और उसके बाद 23 जून 2013 को चैंपियंस ट्राफी को जितवाया।

धोनी पहले ऐसे क्रिकेट खिलाड़ी बने जिन्होंने एक खिलाड़ी के तौर पर 150 टी20 मैच एक कप्तान के तौर पर जीते। धोनी ने एक कप्तान के तौर पर 6 आईसीसी टी20 विश्वकप खेले जो किसी भी कप्तान के तौर पर सबसे अधिक हैं। इसके अलावा धोनी ने भारत के लिए 331 अंतरराष्ट्रीय मैचो में कप्तानी की है, जो क्रिकेट इतिहास किसी एक खिलाड़ी के लिए सबसे अधिक हैं।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें स्पोर्ट्स गलियारा.कॉम (Sportsgaliyara.com) के सोशल मीडिया फेसबुक,  ट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.