हरभजन सिंह ने की सौरव गांगुली की तारीफ, कहा उनकी वजह से निडर गेंदबाज बना

0

हरभजन सिंह ने हाल ही में बड़ा खुलासा करते हुए कहा कि भारत के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने उनको काफी सपोर्ट किया और उन्हीं की वजह से वो एक निडर गेंदबाज बन पाए। हरभजन सिंह ने अपनी सफलता का श्रेय भी सौरव गांगुली को ही दिया।

आकाश चोपड़ा के साथ उनके यूट्यूब चैनल पर बात करते हुए हरभजन सिंह ने चयनकर्ताओं को लेकर भी चौंकाने वाला खुलासा किया और कहा कि चयनकर्ताओं ने उन्हें ऐसी बातें बोली, जोकि वो पब्लिक में नहीं बोल सकते हैं।

हरभजन सिंह ने आकाश चोपड़ा से कहा, “मेरी जिंदगी में एक पल था, जब मुझे नहीं पता था कि मेरे साथ कौन है और कौन नहीं। क्योंकि लोग मेरे मुंह पर कहते थे कि मेरे साथ हैं, लेकिन ज्यादातर मेरे साथ नहीं थे। इस समय सौरव गांगुली ने मुझे बैक किया और मेरा साथ दिया। चयनकर्ता मेरे खिलाफ थे और उन्होंने मुझे काफी चीजें बताई, जो मैं यहां नहीं बता सकता। सौरव गांगुली की मैं जितनी तारीफ करूं, वो कम है। वो उस समय कप्तान नहीं होते, तो मुझे नहीं पता किसी और कप्तान ने मुझे उतना बैक किया होता। हरभजन सिंह के मुताबिक सौरव गांगुली के कारण वो फीयरलेस गेंदबाज बन पाए

हरभजन सिंह

भारतीय टीम के दिग्गज ऑफ स्पिनर हरभजन सिंह का मानना है कि अगर आपको 4-5 फील्डर कैचिंग के लिए चाहिए, तो गांगुली आपको वो फील्ड देते हैं। कभी हम खुद कहते थे कि फील्डर को पीछे रखना चाहिए, लेकिन वो कहते थे कि उसे आगे रहना चाहिए। हम चांस क्रिएट करेंगे, उन्हें रिस्क लेने दो। हरभजन सिंह ने साफ किया ऐसे ही कप्तान चाहिए होते हैं, जोकि आपको बैक करें। यह उनकी सबसे खास बात थी।

हरभजन सिंह ने भारत के लिए 103 टेस्ट, 236 वनडे और 28 टी20 मुकाबले खेले हैं । इस बीच अपने करियर में भज्जी ने 700 से ऊपर विकेट लिए और साथ ही में उन्होंने दो शतक भी जड़े हैं। वो अपने करियर में सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में खेले हैं, लेकिन उनके मुताबिक गांगुली की सर्वश्रेष्ठ कप्तान हैं।

वो भारत के लिए अंतिम बार 2016 में खेले थे, लेकिन अभी वो भारतीय टीम से बाहर चल रहे हैं। हालांकि अभी भी वो आईपीएल में खेल रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.