वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले विकेटकीपर, नंबर 1 पर भारतीय खिलाड़ी

0

वनडे में विकेटकीपर्स की भूमिका काफी अहम होती है। एक विकेटकीपर विकेटों के पीछे से अपनी चपलता दिखाते हुए मैच का रुख पलट सकता है। शानदार स्टंपिंग और विकेटकीपिंग क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में काफी अहम होते हैं। अब तक वनडे क्रिकेट में कई शानदार विकेटकीपर्स हुए हैं।

कुमार संगकारा, एडम गिलक्रिस्ट, मार्क बाउचर और एम एस धोनी जैसे दिग्गज खिलाड़ियों ने विकेटकीपिंग में कई सारे कीर्तिमान अपने नाम किए हैं। इन खिलाड़ियों ने विकेटकीपिंग में एक नया आयाम स्थापित किया है। अक्सर जब भी विकेटकीपिंग की बात होती है तो इन खिलाड़ियों का नाम लिया जाता है।

विकेटकीपिंग में सबसे ज्यादा मुश्किल काम होता है स्टंपिंग करना। स्टंपिंग करने के लिए एक विकेटकीपर को काफी पैनी निगाह रखनी होती है और साथ ही उसे काफी चपलता भी दिखानी होती है। एम एस धोनी इस मामले में काफी माहिर माने जाते हैं और कई बार उन्होंने अपनी शानदार स्टंपिंग का नमूना भी पेश किया है। आज हम आपको वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा स्टंपिंग करने वाले 3 विकेटकीपर्स के बारे में बताएंगे। चौंकाने वाली बात ये है कि इस लिस्ट के टॉप 3 में एडम गिलक्रिस्ट जैसे दिग्गज विकेटकीपर का नाम नहीं है

3.रमेश कालूवितराना

ramesh kaluvitharana

रमेश कालूवितराना काफी आक्रामक बल्लेबाज थे और वो 1996 में वर्ल्ड कप जीतने वाली श्रीलंकाई टीम का भी हिस्सा थे। कहा जाता है कि रमेश कालूवितराना और सनथ जयसूर्या की सलामी जोड़ी ने वनडे क्रिकेट में ओपनिंग की परिभाषा ही बदल दी थी। ये जोड़ी काफी आक्रामक ओपनिंग करती थी।

रमेश कालूवितराना ने 1990 से लेकर 2004 तक श्रीलंका टीम के लिए 189 वनडे मैच खेले। इस दौरान उन्होंने कुल मिलाकर 206 शिकार किए, जिसमें से 131 कैच उन्होंने पकड़े। इसके अलावा इस दौरान रमेश कालूवितराना ने 75 स्टंपिंग भी किए।

2.कुमार संगकारा

kumar sangakara

श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा जबरदस्त विकेटकीपर थे। बल्लेबाजी में एक तरफ जहां उन्होंने कई कीर्तिमान बनाए तो वहीं विकेटों के पीछे भी उनका प्रदर्शन काफी लाजवाब रहा। कुमार संगकारा ने अपने वनडे करियर में कुल 404 मुकाबले खेले और इस दौरान 353 पारियों में 482 शिकार किए। इस दौरान उन्होंने 383 कैच पकड़े और 99 स्टंपिंग की।

1.एम एस धोनी

Ms dhoni

विकेटकीपिंग में जब-जब स्टंपिंग की बात होगी, तब-तब एम एस धोनी का नाम सबसे पहले लिया जाएगा। एम एस धोनी पलक झपकते ही स्टंपिंग करने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने कई बार ऐसा किया है। एम एस धोनी की सबसे खास बात ये है कि बैट्समैन ने अगर जरा सी भी गलती कर दी तो वो चूकते नहीं हैं।

एम एस धोनी ने अभी तक कुल मिलाकर 350 वनडे मुकाबले खेले हैं और इस दौरान उन्होंने 345 पारियों में 444 शिकार किए हैं। धोनी ने 321 कैच पकड़े और 123 बार स्टंपिंग किया। वो 100 से ज्यादा स्टंपिंग करने वाले दुनिया के एकमात्र विकेटकीपर हैं। धोनी ने अभी संन्यास नहीं लिया है और अगर आगे अभी खेलते हैं तो फिर उनके आंकड़े और बेहतर होते जाएंगे।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.