Friday, April 23, 2021
Homeक्रिकेटभारतीय अंपायर नितिन मेनन बताया DRS में "अंपायर कॉल" क्यों है जरूरी

भारतीय अंपायर नितिन मेनन बताया DRS में “अंपायर कॉल” क्यों है जरूरी

भारत और इंग्लैंड के बीच चल रही सीरीज के दौरान भारतीय अंपायर नितिन मेनन ने काफी सुर्खियां बटोरी हैं। नितिन मेनन को उनकी शानदार अंपयारिंग के चलते काफी सराहा गया था वहीं अब इस 37 साल के युवा अंपयार ने  “अंपायर कॉल” के महत्व के बारे में खुलकर बातचीत की है। मेनन ने बताया कि जब तक बॉल-ट्रैकिंग तकनीक 100% सटीक नहीं होती, तब तक “अंपायर कॉल” काफी महत्वपूर्ण रहेगी।

एएनआई के साथ बातचीत के दौरान नितिन मेनन ने कहा, ‘देखें, सबसे पहले, अंपायर कॉल का अर्थ उन निर्णयों से है जो बहुत करीब हैं। फैसले जो 50-50 हैं, जो किसी भी तरफ जा सकते हैं। यह पूरी तरह से सही निर्णय के खिलाफ नहीं है जिसे पलट दिया जाए इसलिए जब 50-50 का निर्णय होता है तब अंपायर कॉल होती है। जो किसी भी तरफ या बल्लेबाजी या गेंदबाजी करने वाली टीम की तरफ जा सकता है।’

नितिन मेनन ने आगे कहा, ‘जब हम जानते हैं कि तकनीक 100% सही नहीं हो सकती है तब आपको अम्पायर कॉल की आवश्यकता होती है। ऐसे में ऑन-फील्ड निर्णय जो भी दिया जाता है वही मान्य होता है क्योंकि यह एक बहुत ही मामूली सा फर्क होता है इसलिए हम उस निर्णय के साथ जाते हैं जो ऑन-फील्ड अंपायर द्वारा दिया जाता है।’

नितिन मेनन ने कहा, ‘इस अवधारणा को आम जनता को समझने की आवश्यकता है क्योंकि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि DRS में अंपायर कॉल क्यों होती है। यह मूल रूप से आवश्यक है क्योंकि यह एक माइनर कॉल होती है और 100% टैक्नोलॉजी यह नहीं बता सकती है कि गेंद स्टंप को लग रही थी या नहीं।’

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें स्पोर्ट्स गलियारा.कॉम (Sportsgaliyara.com) के सोशल मीडिया फेसबुक,  ट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments