Sunday, April 18, 2021
Homeआईपीएलकोरोना महामारी के चलते IPL की ब्रांड वैल्यू में आई गिरावट, 6...

कोरोना महामारी के चलते IPL की ब्रांड वैल्यू में आई गिरावट, 6 साल में पहली बार हुआ ऐसा

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की ब्रांड वैल्यू में पिछले छह वर्षो में पहली बार गिरावट देखने को मिली है। डफ एंड फेलप्स की रिपोर्ट में यह खुलासा किया गया है कि आईपीएल की इकोसिस्टम वैल्यू 2020 में 3.6 फीसदी घटी है।

वैश्विक महामारी के कारण 2020 साल अर्थिक रूप से काफी चुनौतीपूर्ण रहा था और दुनिया में इसकी वजह से खेल गतिविधियां ठप पड़ गई थीं तथा कई टूर्नामेंटों को स्थगित करना पड़ा था।

महामारी का असर आईपीएल पर भी पड़ा और वार्षिक आईपीएल स्टडी के अनुसार पिछले साल आईपीएल इकोसिस्टम वैल्यू 2019 में 47500 करोड़ रुपये की तुलना में इस बार 45,800 करोड़ रुपये रहा, जिसमें करीब 3.6 फीसदी का घाटा देखा गया।

साल 2020 में फ्रेंचाइजों की ब्रांड वैल्यू में भी कटौती देखी गई, जिसका अहम कारण स्पॉन्सरशिप रेवेन्यू का कम होना माना जा रहा है। 2019 की तुलना में 2020 में सभी फ्रेंचाइजों की ब्रैंड वैल्यू में घाटा देखने को मिला है।

घाटे के बावजूद मुंबई इंडियंस लगातार पांचवें साल फ्रेंचाइजी ब्रांड रैंकिंग में शीर्ष स्थान पर रहा। हालांकि 2019 की तुलना में 2020 में मुंबई की ब्रांड वैल्यू में 5.9 फीसदी की कमी देखने को मिली। मुंबई की ब्रांड वैल्यू 2019 में 809 करोड़ रुपये थी जो 2020 में घटकर 761 करोड़ रुपये रही।

चेन्नई सुपर किंग्स और कोलकाता नाइट राइडर्स की ब्रांड वैल्यू में क्रमश: 16.5 फीसदी और 13.7 फीसदी का घाटा देखने को मिला। चेन्नई की ब्रांड वैल्यू 2019 में 732 करोड़ रूपये थी जो 2020 में घटकर 611 करोड़ रूपे रह गई।

कोलकाता की ब्रैंड वैल्यू 2019 में 629 करोड़ रूपये थी जो 2020 में घटकर 543 करोड़ रुपये रहा। फ्रेंचाइजी ब्रांड वैल्यू में चेन्नई दूसरे और कोलकाता तीसरे स्थान पर है।

इस बीच रॉयल चेलेंजर्स बेंगलुरु 9.9 फीसदी, सनराइजर्स हैदराबाद 8.5 फीसदी, दिल्ली कैपिटल्स 1.0 फीसदी, पंजाब किंग्स 11.3 फीसदी और राजस्थान रॉयल्स की ब्रांड वैल्यू में 2020 में 8.1 फीसदी का घाटा देखने को मिला।

डफ एंड फेलप्स इंडिया के एक्सटर्नल एडवाइजर संतोष एन. ने कहा, “अन्य व्यवसायों की तरह ही कोरोना महामारी का आईपीएल पर भी असर देखने को मिला और आईपीएल की इकोसिस्टम वैल्यू में पिछले साल की तुलना में 2020 में 3.6 फीसदी का घाटा हुआ। हालांकि लोगों के घरों में रहने से आईपीएल के टेलीविजन दर्शकों की संख्या में इजाफा हुआ है। प्रसारकों के लिए 2020 आईपीएल का सत्र काफी अच्छा रहा और इसने विज्ञापन तथा टीवी दर्शकों की संख्या के रिकॉर्ड तोड़े।

उल्लेखनीय है कि आईपीएल 2020 का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में दर्शकों के बिना कराया गया था। कोरोना के कारण भारत सरकार ने खेल गतिविधियों पर रोक लगा दी थी, लेकिन भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) इसका आयोजन कराना चाहता था। साल 2020 से पहले 2009 में भी आम चुनाव के कारण आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में किया गया था।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें स्पोर्ट्स गलियारा.कॉम (Sportsgaliyara.com) के सोशल मीडिया फेसबुक,  ट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments