क्रिकेट इतिहास में इन 6 रिकॉर्ड्स पर है सिर्फ बांग्लादेश का कब्जा, आस-पास भी नही कोई टीम

0

बांग्लादेश ने पिछले कुछ सालों में शीर्ष क्रिकेटिंग देशों में जगह बनाने के लिए त्वरित प्रगति की है। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 14 सालों के बाद, वे 2000 में एक टेस्ट-प्लेइंग राष्ट्र बन गए। सदी के अंत के बाद से, बांग्लादेश शीर्ष टीमों को हराने में सफल रहा और बहु-राष्ट्र टूर्नामेंट में अपना प्रदर्शन बेहतर किया है। उन्होंने वन-डे प्रारूप में उत्कृष्टता हासिल की है और पिछले कुछ सालों में घर पर अच्छी संख्या में मैच जीते हैं।

यहां हम छह प्रमुख रिकॉर्ड बता रहे हैं, जो बांग्लादेश द्वारा बनाये गए हैं

1. एक विकेटकीपर द्वारा दो दोहरे शतक

मुशफिकुर रहीम टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाले पहले बांग्लादेश खिलाड़ी बने, जब उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ 2013 गैले टेस्ट में 200 रन बनाए। 2015 में, तमीम इकबाल ने पाकिस्तान के खिलाफ टेस्ट में 206 के साथ मुशफिकुर को पीछे छोड़ा। शाकिब अल हसन ने 2017 में हैमिल्टन टेस्ट में न्यूजीलैंड के खिलाफ 217 रन बनाए।

mushfiqur rahim

तमीम के रिकॉर्ड के लगभग 22 महीने बाद, मुशफिकुर जिम्बाब्वे के खिलाफ ढाका टेस्ट मैच में 219 रन पर नाबाद रहे। रहीम, इस प्रकार टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में दो डबल शतक लगाने वाले पहले विकेटकीपर बने। एक किपर के रूप में खेलते हुए सात अन्य खिलाड़ियों ने टेस्ट डबल बनाया है और केवल मुशफिकुर ने इसे दो बार किया है।

2. सबसे तेज 10000 रन और 500 विकेट

शाकिब अल हसन ने सभी प्रारूपों में बल्ले और गेंद दोनों के साथ एक शानदार प्रदर्शन किया है। वह 10000 रन बनाने और 500 विकेट लेने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के इतिहास में तीन खिलाड़ियों में से एक हैं।

shakib-al-hasan

शाकिब, जिन्होंने केवल 302 मैचों में ये आंकड़ा हासिल किया, इस मामले में वह अब तक के सबसे तेज़ है। इस रिकॉर्ड के साथ दो अन्य खिलाड़ी; जैक्स कैलिस और शाहिद अफरीदी ने क्रमशः 420 और 477 मैचों में ये आंकड़ा हासिल किया। शाकिब पांच खिलाड़ियों में सबसे तेज़ है, जो वन-डे क्रिकेट में 5000 रन और 200 विकेट से ले चुके है। शाकिब अल हसन टेस्ट क्रिकेट में 3000 रन और 200 विकेट के साथ 14 खिलाड़ियों में सबसे तेज है।

3. एक स्टेडियम में सबसे ज्यादा रन 

मीरपुर, ढाका में शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय स्टेडियम में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में 3938 रनों के साथ, तमीम इकबाल के पास एक ही स्थान पर सबसे ज्यादा रन बनाने का रिकॉर्ड है। शाकिब अल हसन (3900) और मुशफिकुर रहीम (3566) ने दूसरे और तीसरे स्थान पर हैं।

4. सबसे कम उम्र में टेस्ट शतक

मोहम्मद अशरफुल ने श्रीलंका के खिलाफ 2001 में एशियाई टेस्ट चैम्पियनशिप में अपना टेस्ट मैच डेब्यू किया। मैच की दूसरी पारी में, अशरफुल ने 16 चौके लगाकर 212 गेंदों पर शानदार 114 रन बनाये। हालांकि, अशरफुल बांग्लादेश को पारी की हार नहीं बचा सके। वह उस समय 17 साल और 63 दिन के थे, इस प्रकार वह टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में सबसे कम उम्र में शतक बनाने वाले बल्लेबाज बन गए।

Mohammad_Ashraful

इस प्रकार अशरफुल ने पाकिस्तान के मुश्ताक मोहम्मद के पिछले रिकॉर्ड को तोड़ दिया, जो 17 साल और 82 दिन के थे जब उन्होंने 1961 में अपना पहला टेस्ट शतक बनाया था। सचिन तेंदुलकर भी इस रिकॉर्ड से चूक गए क्योंकि उनका पहला अंतरराष्ट्रीय टेस्ट शतक 17 साल और 112 दिन की उम्र में आया था।

5. टेस्ट और वनडे डेब्यू मैच में मैन ऑफ द मैच पुरस्कार

मुस्तफिजुर रहमान ने अपने अंतरराष्ट्रीय करियर की प्रभावशाली शुरुआत की क्योंकि बाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज ने भारतीय टीम के खिलाफ डेब्यू किया, और बांग्लादेश को भारतीयों पर अपनी पहली श्रृंखला जीतने में मदद की। उन्होंने शुरुआत में पांच विकेट लिए और अगले मैच में छह विकेट लेकर अपने प्रदर्शन को बेहतर बना दिया। एक महीने बाद अपने डेब्यू टेस्ट मैच में रहमान ने पहली पारी में चार विकेट लिए। दुर्भाग्यवश, वर्षा के कारण मैच ड्रॉ पर समाप्त हुआ।

Mushtafizur rahman

उन्होंने वन-डे और टेस्ट मैच दोनों डेब्यू मैच में मैन ऑफ द मैच पुरस्कार जीता और खेल के इतिहास में ऐसा करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए।

6. टेस्ट डेब्यू में सबसे कम उम्र में 5 विकेट

हाल ही में विंडीज़ के खिलाफ संपन्न चटगांव टेस्ट में ऑफ स्पिनर नायम हसन ने अपना टेस्ट मैच डेब्यू किया। 17 वर्षीय खिलाड़ी ने अपनी पहली पारी में गेंद के साथ 61 रन देकर 5 विकेट लिए। इस प्रकार, वह टेस्ट इतिहास में सबसे कम उम्र के खिलाड़ी बने, जिन्होंने डेब्यू में 5 विकेट लिए।

नायम 17 साल और 356 दिन के थे जब उन्होंने खेल के दूसरे दिन अपने पांच विकेट पूरे किए। इस प्रकार उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के पेट कमिन्स के रिकॉर्ड को तोड़ा। उन्होंने 2011 के टेस्ट में पहली बार दक्षिण अफ़्रीकी की दूसरी पारी में 79 रन देकर 6 विकेट लिए थे, तब वह 18 साल और 196 दिन के थे।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें स्पोर्ट्स गलियारा.कॉम (Sportsgaliyara.com) के सोशल मीडिया फेसबुक,  ट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.