Thursday, June 17, 2021
Homeक्रिकेटभारत का वो महान क्रिकेटर जो दर्शकों की डिमांड पर लगाता था...

भारत का वो महान क्रिकेटर जो दर्शकों की डिमांड पर लगाता था छक्के

मौजूदा क्रिकेट में चौके-छक्के लगना बड़ी ही आम बात है। 18-20 गेंद पर अर्धशतक और 40-45 गेंद पर शतक का नजारा हमने कई बार देखा है। लेकिन क्या आप ऐसी क्रिकेट की कल्पना 40-45 साल पहले कर सकते थे, आप शायद मना ही करेंगे।

आप कहेंगे वो समय टूक-टूक क्रिकेट का था और आप कहां चौके छक्कों की बात कर रहे है। लेकिन बस यहीं तो आप चकमा खा गए। उस दौर में भी कई ऐसे बल्लेबाज थे, जो तूफानी बल्लेबाजी करते थे। वेस्टइंडीज की टीम में तो ऐसे बल्लेबाजों की भरमार थी। हैंस, विवियन रिचयर्ड और गैरी सोबर्स और भी बहुत से।

भारत में भी ऐसे कई बल्लेबाज थे, जिन्हें बड़ा शॉट खेलना बहुत पसंद था। कपिल देव के बारे में तो आपको पता ही होगा, वहीं श्रीकांत का नाम भी इस लिस्ट में आता है। लेकिन एक खिलाड़ी ऐसा भी है जिसकी बल्लेबाजी देखने के लिए फैंस स्टेडियम जाते थे। इस खिलाड़ी का नाम है सलीम दुर्रानी। उस समय भी इस खिलाड़ी की दीवानगी इतनी थी कि एक बार इंग्लैंड के भारतीय दौरे के दौरान उन्हें एक टेस्ट मैच के लिए टीम में नहीं चुना गया तो पूरे शहर में नो दुर्रानी नो टेस्ट के बड़े बड़े पोस्टर छप गए।

ऐसा क्यों हुआ चलिए ये भी हम आपको बता देते हैं। दरअसल दुर्रानी के लिए कहा जाता था कि स्टेडियम के जिस हिस्से से छक्के की फरमाइश आती थी, वह उसी जगह छक्का मारते थे।

ऐसा एक दो बार नहीं बल्कि उन्होंने अपने करियर में कई किया है। अब आप अंदाजा लगाइये, इस दौर में उनके लिए छक्का लगाना कितना आसान होता।

मैदान के अंदर तो वह शानदार खिलाड़ी थे ही लेकिन मैदान के बाहर भी उनके किस्से कम नहीं है। एक किस्सा हम आपको बताते हैं। ये बात है साल 1973 की, उस समय एमसीसी की टीम भारत के दौरे पर थी। टेस्ट मैच से पहले दोनों टीमों की एक पार्टी हुई।

उस पार्टी में इंग्लैंड के स्पिनर पैट पोकॉक दूसरे खिलाड़ियों से लगातार अपनी गेंदबाजी की ही तारीफ कर रहे थे। दुर्रानी कुछ समय तक तो उन्हें देखते रहे लेकिन अंत में वह उनके पास गए और बोले कि आपको तो गेंदबाजी आती ही नहीं है, आप क्यों झूठ बोल रहे हैं। यही नहीं दुर्रानी ने मैच से एक दिन पहले कह दिया था कि मैं आपकी पहली गेंद पर ईस्ट स्टैंड छक्का लगाउंगा। उस वक्त तो पोकॉक को लगा कि दुर्रानी मजाक कर रहे हैं लेकिन मैच में वही हुआ जो उन्होंने कहा था।

अब जरा अंदाजा लगाइये जब सलीम दुर्रानी उस जमाने में ऐसा क्रिकेट खेलते थे तो आज अगर खेल रहे होते तो कितने लोकप्रिय होते।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments