शहीद हुए जवानों को लेकर चीन पर फूटा सहवाग का गुस्सा, कहा सुधर जाओं

0

भारत-चीन के बीच लगातार सीमा विवाद जारी है. कई बैठक के बाद भी नतीजा नकारात्मक ही दिखाई दे रहा है. इस बीच अचानक से आई 20 जवान के शहीद होने की खबर ने देशभर में फिर से तहलका मचा दिया है. दरअसल इस खबर को लेकर अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी बयान दिया है. बता दें कि सोमवार की रात खबर आई थी कि कर्नल रैंक के अधिकारी और भारतीय सेना के दो जवान चीन सेना से हुई झड़प में शहीद हो गए हैं. जिसकी अब वीरेंद्र सहवाग ने कड़ी आलोचना की है. बताया जा रहा है कि अधिकारी सेना की एक पैदल बटालियन की कमान को संभाल रहे थे.

बताया जा रहा है कि इस दौरान वो पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के साथ लगातार जारी तनाव को सुलझाने के लिए कोशिश कर रहे थे कि तभी दोनों देशों के सेनाओं का आमना-सामना हुआ. फिलहाल सूत्रों की माने तो चीन के भी कई सैनिक इस हिंसक झड़प में मारे गए हैं. लेकिन वहां की जनता के बीच इन आंकड़ों को छिपाने के लिए कम्युनिस्ट सरकार सही आंकड़ों का खुलासा नहीं कर रही है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इस समय देश का हर नागरिक शहीद हुए बहादुर सैनिकों को श्रद्धांजलि दे रहा है. जो लगातार सीमा पर अपने देश की रक्षा के लिए लड़ते रहे और फिर शहीद हो गए. ऐसे में अब क्रिकेटर वीरेंद्र सहवाग ने भी शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दी है. साथ ही उन्होंने शहीदों के प्रति अपनी संवेदनाओं को भी व्यक्त किया है. इतना ही नहीं सहवाग ने इन हालातों में चीन को कड़ा संदेश भी दिया है.

बता दें कि सहवाग ने ट्वीट के जरिए चीन की कड़े शब्दों में आलोचना करते हुए लिखा है कि, “कर्नल संतोष बाबू के प्रति हार्दिक संवेदना जिन्होंने गलवान पर कार्रवाई में सर्वोच्च बलिदान दिया. एक समय, जब दुनिया एक गंभीर महामारी से निपट रही है, यह आखिरी चीज है जिसकी हमें आवश्यकता है. मुझे उम्मीद है कि चीनी सुधर जाएं.” फिलहाल इस समय सिर्फ सहवाग ही नहीं बल्कि देश का हर नागरिक चीन के इस रवैये से गुस्से में है. हालांकि आगे सरकार क्या फैसला लेगी, इस पर लोगों की निगाहें टिकी हुई हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.