5 टीमें जिन्होंने टेस्ट में भारत को सबसे ज्यादा बार हराया है, जानिये नम्बर 1 पर कौन

0

टेस्ट को क्रिकेट का पारम्परिक फॉर्मेट माना जाता है. किसी भी टीम के प्रदर्शन का अगर सही आकलन करना हो तो इसके टेस्ट आंकड़ो का देखा जाता है. टेस्ट में पहला मैच 1877 में आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था.

भारत ने टेस्ट में अपना पहला मैच 25 जून 1932 को इंग्लैंड खिलाफ खेला था. टीम इंडिया ने अभी तक 559 टेस्ट खेले हैं जिसमें से 164 में उसे हार मिली हैं तो वहीं 148 में जीत हासिल की है. इस लेख में हम जानेंगे उन 5 टीमों के बारे में जिन्होने भारत को टेस्ट में सबसे ज्यादा बार हराया है.

पाकिस्तान

Pakistan Test cricket team

भारत की प्रतिद्वन्दी टीम पाकिस्तान इस मामले में पांचवे नम्बर पर है. दोनो ही टीमों के दरम्यान अभी तक 59 टेस्ट खेले गए हैं जिसमें से भारत ने 9 और पाकिस्तान ने 12 जीते हैं. इस दौरान 38 टेस्ट ड्रा रहे हैं.

दक्षिण अफ्रीका

South africa test cricket team

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम का रिकॉर्ड ज्यादा खास नहीं रहा है. 1992 में पहली बार दोनो टीमें आमने सामने हुई थी. भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 36 टेस्ट खेले हैं जिसमें से 11 जीते हैं और 15 में हार का सामना किया है. इस बीच 10 मैच ड्रा रहे हैं.

वेस्टइंडीज

west indies test cricket team

मौजूदा में वेस्टइंडीज भले ही कमज़ोर टीम नज़र आती हो, लेकिन 80-90 के दशक में वह विश्व की सबसे ताकतवर टीम रही है. वेस्टइंडीज के खिलाफ भारत ने 96 टेस्ट खेले हैं जिसमें से 20 जीते हैं तो वहीं 30 में हार का मुंह भी देखा है, 46 टेस्ट ड्रा रहे हैं.

आस्ट्रेलिया

australia test cricket team

भारत को 2018 के अंत में आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज़ खेलनी है. ऐसे में दोनो टीमें के आंकड़े जानना भी बेहद जरूरी है. भारत ने आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ 94 टेस्ट खेले हैं जिसमें से 26 मुकाबलों में जीत दर्ज की है, तो वहीं 41 में हार का सामना भी किया है. वहीं 26 मैच बेनतीजा रहे हैं.

इंग्लैंड

australia test cricket team

टीम इंडिया ने अपना डेब्यू टेस्ट 86 साल पहले इंग्लैंड के विरूद्ध ही खेला था. दोनो टीमें टेस्ट में 122 बार आमने सामने हुई हैं. जिसमें से भारत ने 26 और इंग्लैंड ने 47 बार बाजी मारी है. इस बीच 49 मौके ऐसे आएं हैं जब मैच बिन परिणाम के समाप्त हुए हैं.

Leave A Reply

Your email address will not be published.