टेस्ट क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा के 4 सबसे धीमे अर्धशतक, नंबर 1 की वजह से जीता हुआ मैच हार सकती थी भारतीय टीम

0

टेस्ट क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा एक सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों में से एक हैं, उनकी सॉलिड बल्लेबाजी तकनीक की सभी तारीफ करते हैं हालाँकि कई बार उन्हें रक्षात्मक बल्लेबाजी के कारण आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ता हैं. ऐसा कई बार देखने को मिला हैं जब वह बेहद धीमी बल्लेबाजी करते हुए दिखाई देते हैं लेकिन टेस्ट क्रिकेट में ये जायज हैं.

आज इस लेख में हम टेस्ट क्रिकेट में चेतेश्वर पुजारा के 4 सबसे धीमे अर्द्धशतको के बारे में जानेगे.

4) 170 गेंद vs ऑस्ट्रेलिया (सिड्नी, 2021)

AUS v IND 2020-21: "I don't think that was the right approach," says Ricky Ponting on Cheteshwar Pujara's slow innings

चेतेश्वर पुजारा के बल्ले से चौथा सबसे धीमा शतक मौजूदा बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में निकला था. मैच के पांचवे दिन मैच बचाने के लिए पूरा दिन खेलना था. इसी दौरान पुजारा ने 170 गेंद पर अर्द्धशतक लगाया था और मैच ड्रा कराने में अहम भूमिका निभाई थी.

सिड्नी के मैदान पर पुजारा ने भारत की दूसरी पारी में 205 गेंदों पर 12 चौकों की मदद से 77 रनों की पारी खेली थी.

3) 173 गेंद vs साउथ अफ्रीका (जोहान्सबर्ग, 2018)

LIVE 3rd test: चेतेश्‍वर पुजारा 179 गेंद पर 50 रन बनाकर आउट

भारत और साउथ अफ्रीका के बीच 3 टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी मुकाबला जोहान्सबर्ग के मैदान पर खेला गया था. इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी की थी और चेतेश्वर पुजारा ने 173 गेंदों पर अर्द्धशतक लगाते हुए 179 गेंदों पर 8 चौकों की मदद से 50 रनों की पारी खेली थी.

2) 174 गेंद vs ऑस्ट्रेलिया (सिड्नी, 2021)

AUS vs IND: Netizens troll Cheteshwar Pujara for his slowest fifty in SCG Test

चेतेश्वर पुजारा ने मौजूदा सीरीज के सिड्नी टेस्ट की दोनों पारियों में दो धीमी फिफ्टी लगाई थी. पुजारा ने इस दौरान पहली पारी में 174 गेंदे खेलने के बाद अपना अर्द्धशतक पूरा किया था. पुजारा ने इस पारी में 176 गेंदे खेलने के बाद 5 चौकों की मदद से 50 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली थी.

1) 196 गेंद vs ऑस्ट्रेलिया (गाबा, 2021)

चेतेश्वर पुजारा ने मौजूदा बॉर्डर-गावस्कर 2020-21 ट्रॉफी के अंतिम मुकाबले की चौथी पारी में अपने टेस्ट करियर की सबसे धीमी फिफ्टी लगाई. पुजारा ने मैच में 196 गेंदे खेलने के बाद अर्द्धशतक पूरा किया और 211 गेंदे खेलने के बाद 7 चौकों की मदद से 56 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेली. आपको बता दें की पुजारा धीमा खेलना आखिरी में भारी पड़ता भी नजर आ रहा था क्योंकि रन चेज करते हुए एक समय ऐसा भी आया जब टीम इंडिया को 6 से भी ज्यादा रनरेट से रन बनाने थे लेकिन रिषभ पंत 3 ओवर शेष रहते हुए भारतीय टीम को ऐतिहासिक जीत दिला दी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें स्पोर्ट्स गलियारा.कॉम (Sportsgaliyara.com) के सोशल मीडिया फेसबुक,  ट्विटरइंस्टाग्राम पेज को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.