logo
श्रीलंका के दिग्गज तेज गेंदबाज ने छोड़ा क्रिकेट, सभी फॉर्मेट से लिया संन्यास
श्रीलंका के महान गेंदबाज लसित मलिंगा ने संन्यास का ऐलान कर दिया है. उन्होंने तुरंत प्रभाव से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट छोड़ने का फैसला किया है. लसित मलिंगा टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) में खेलना चाहते थे लेकिन जब श्रीलंकाई टीम (Sri Lanka Cricket Team) में उन्हें जगह नहीं मिली तो उन्होंने संन्यास का ऐलान कर दिया. हालांकि वे टेस्ट, वनडे और फ्रेंचाइजी क्रिकेट से पहले ही वो संन्यास चुके थे और केवल श्रीलंका के लिए टी20 क्रिकेट 
 

श्रीलंका के महान गेंदबाज लसित मलिंगा ने संन्यास का ऐलान कर दिया है. उन्होंने तुरंत प्रभाव से क्रिकेट के सभी फॉर्मेट छोड़ने का फैसला किया है. लसित मलिंगा टी20 वर्ल्ड कप (T20 World Cup) में खेलना चाहते थे लेकिन जब श्रीलंकाई टीम (Sri Lanka Cricket Team) में उन्हें जगह नहीं मिली तो उन्होंने संन्यास का ऐलान कर दिया. हालांकि वे टेस्ट, वनडे और फ्रेंचाइजी क्रिकेट से पहले ही वो संन्यास चुके थे और केवल श्रीलंका के लिए टी20 क्रिकेट खेलने के बारे में सोच रहे थे. अब वर्ल्ड कप खेलने का सपना पूरा नहीं होने पर इस फॉर्मेट से भी अलविदा कह दिया और अपने शानदार क्रिकेट करियर पर विराम लगा दिया.

अपने 16 साल के इंटरनेशनल करियर में मलिंगा ने 340 मुकाबले खेले, जिसमें 30 टेस्ट, 226 वनडे और 84 T20 मैच शामिल रहे. इनमें उन्होंने कुल 546 विकेट लिए. अगर विकेटों को अलग-अलग फॉर्मेट के हिसाब से देखा जाए तो टेस्ट में 101, वनडे में 338 और टी20 में 107 विकेट शामिल हैं. लसित मलिंगा 38 साल के हो चुके हैं और आखिरी बार क्रिकेट मैदान पर मार्च 2020 में उतरे थे. मलिंगा ने संन्यास की जानकारी देते हुए कहा, ‘अपने टी20 जूतों को टांग रहा हूं और क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले रहा हूं. उन सबका आभारी हूं जिन्होंने मेरे सफर में साथ दिया और आने वाले सालों में युवा क्रिकेटर्स के साथ अपना अनुभव बांटना चाहता हूं.’

मलिंगा ने बनाए तीन कमाल के रिकॉर्ड

लसित मलिंगा ने अपने अनोखे बॉलिंग एक्शन के चलते सबसे पहले सबका ध्यान खींचा था. स्लिंग एक्शन के चलते उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर कई कमाल के रिकॉर्ड बनाए. इनमें इंटरनेशनल क्रिकेट में 2 बार लगातार 4 गेंदों पर 4 विकेट चटकाना, वनडे इंटरनेशनल में 3 हैट्रिक लेना और इंटरनेशनल क्रिकेट में 5 बार हैट्रिक जमाना शामिल है. मलिंगा जिन्हें डेथ ओवर स्पेशलिस्ट कहा जाता था. उन्होंने अपनी कप्तानी में श्रीलंका को T20 वर्ल्ड कप का विश्व विजेता भी बनाया है. ये कमाल उन्होंने साल 2014 का T20 वर्ल्ड कप जीतते हुए किया था. मलिंगा की कप्तानी में भारत को हराकर श्रीलंका ने पहले बार टी20 वर्ल्ड कप जीता था.

इस तरह गुजरा मलिंगा का इंटरनेशनल करियर

लसित मलिंगा ने इंटरनेशनल क्रिकेट में 2004 में कदम रखा था. उन्होंने टेस्ट क्रिकेट के जरिए शुरुआत की थी. जुलाई 2004 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनका डेब्यू हुआ था. हालांकि इस फॉर्मेट में ज्यादा टिक नहीं पाए. 30 टेस्ट के बाद उनका टेस्ट करियर रुक गया. 2010 में वे आखिरी बार सफेद जर्सी में श्रीलंका के लिए खेले. हालांकि वनडे और टी20 में उन्हें काफी सफलता मिली. जुलाई 2004 में यूएई के खिलाफ डेब्यू के बाद उन्होंने 226 वनडे खेले और 338 विकेट लिए. जुलाई 2019 में बांग्लादेश के खिलाफ उनका आखिरी वनडे देखने को मिला. इसी तरह जून 2006 में इंग्लैंड के खिलाफ मलिंगा ने टी20 डेब्यू किया. फिर 84 मैच खेले और 107 विकेट लिए. इस फॉर्मेट में उनका आखिरी मैच मार्च 2020 में वेस्ट इंडीज के खिलाफ रहा.

मुंबई इंडियंस के आधार थे मलिंगा

मलिंगा का करियर आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस के जिक्र के बिना अधूरा है. इस टीम के साथ उन्होंने काफी कामयाबियां हासिल कीं. मलिंगा ने IPL में मुंबई इंडियंस के लिए कुल 170 विकेट चटकाए, जिसमें 6 बार उन्होंने 4 विकेट लिए और एक बार 5 विकेट लेने का कमाल किया. आईपीएल 2019 के फाइनल में उनकी शानदार गेंदबाजी के बूते ही मुंबई ने चेन्नई सुपरकिंग्स को एक रन से हराया था और चौथी बार खिताब जीता था.