logo
दुनिया इकलौता बल्लेबाज जिसने 2 देशों की तरफ से खेलते हुए टेस्ट में 1,000 रन व शतक बनाया

अपने देश से खेलना प्रत्येक खिलाड़ी का सपना होता है, लेकिन कई बार हम सभी ने विभिन्न खेलों में ऐसा देखा है कि एक खिलाड़ी 2 देशों की तरफ से अलग-अलग समय पर खेलता हुआ दिखाई दिया है। क्रिकेट में भी ऐसा कई बार देखने को मिला है और आगे भी मिलेगा। इसमें यदि मौजूदा समय में प्रमुख तौर पर नाम लिया जाए तो इंग्लैंड टीम के लिमिटेड ओवर्स कप्तान इयोन मोर्गन सबसे पहले आते हैं, जिन्होंने आयरलैंड से खेलने के बाद अब इंग्लैंड के लिए खेल रहे हैं।

 

अपने देश से खेलना प्रत्येक खिलाड़ी का सपना होता है, लेकिन कई बार हम सभी ने विभिन्न खेलों में ऐसा देखा है कि एक खिलाड़ी 2 देशों की तरफ से अलग-अलग समय पर खेलता हुआ दिखाई दिया है। क्रिकेट में भी ऐसा कई बार देखने को मिला है और आगे भी मिलेगा। इसमें यदि मौजूदा समय में प्रमुख तौर पर नाम लिया जाए तो इंग्लैंड टीम के लिमिटेड ओवर्स कप्तान इयोन मोर्गन सबसे पहले आते हैं, जिन्होंने आयरलैंड से खेलने के बाद अब इंग्लैंड के लिए खेल रहे हैं।

लेकिन इन सभी में एक सबसे बड़ा नाम पूर्व दक्षिण अफ्रीकी कप्तान केप्लर वेसेल्स का है, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया के लिए पहले खेलने के बाद अफ्रीका टीम की कप्तानी भी की। केप्लर के नाम एक नायाब रिकॉर्ड भी दर्ज है जो फिलहाल आने वाले समय में टूटना काफी मुश्किल ही दिखाई दे रहा है। दरअसल केप्लर वेसेल्स ने ऑस्ट्रेलिया और दक्षिण अफ्रीका के लिए टेस्ट क्रिकेट में खेलते हुए शतकीय पारी खेलने के साथ 1,000 से अधिक रन बनाने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में एकलौते बल्लेबाज हैं।

इंग्लैंड के खिलाफ दोनों देशों से खेलते हुए लगाया शतक

केप्लर वेसेल्स ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से साल 1982 में डेब्यू करते हुए ब्रिस्बेन क्रिकेट ग्राउंड में 162 रनों की पारी खेली थी। वहीं इसके बाद उन्होंने अफ्रीका टीम की तरफ से साल 1994 में लॉर्ड्स के मैदान में बतौर कप्तान 105 रनों की पारी खेली। उनका ऑस्ट्रेलिया टीम की तरफ से रिकॉर्ड देखा जाए तो वेसेल्स ने 24 टेस्ट और 54 वनडे मैचों में 1761 और 1740 रन बनाए हैं।

वहीं दक्षिण अफ्रीका के लिए भी उन्होंने एक कप्तान और खिलाड़ी के तौर पर प्रमुख भूमिका अदा की है। वेसेल्स ने अफ्रीका के लिए वनडे और टेस्ट दोनों ही फॉर्मेट में खेला जिसमें उन्होंने 16 टेस्ट मैचों में 1027 रन बनाए तो वहीं 55 वनडे मैचों में 1627 रन बनाने में सफल रहे है।

इसके अलावा उनके पूरे अंतरराष्ट्रीय करियर को देखा जाए तो 40 टेस्ट मैचों में 41 के औसत से 2788 रन बनाए हैं, जिसमें 6 शतकीय और 15 अर्धशतकीय पारियां दर्ज हैं। वहीं वनडे में केप्लर वेसेल्स ने 109 मैचों में 34.35 के औसत से 3367 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतकीय और 26 अर्धशतकीय पारियां दर्ज हैं।