ग्रीम स्मिथ ने की सौरव गांगुली की तारीफ, कही ऐसी बात जीत लेगी दिल

0

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और माैजूदा समय के बीसीसीआई अध्यक्ष साैरव गांगुली अपनी बेबाक बातें रखने के लिए जाने जाते हैं। जब वे टीम के कप्तान थे तो विरोधी टीम भी उनसे उलझने के लिए बचती थी। वहीं साउथ अफ्रीका के पूर्व दिग्गज कप्तान ग्रीम स्मिथ ने भी गांगुली की जमकर तारीफ की है। उन्होंने गांगुली की तारीफ करते हुए कहा कि यदि आप दादा को छेड़ेंगे तो वह उसका जवाब जरूर देंगे।

स्टार स्पोर्ट्स के शो ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में ग्रीम स्मिथ ने बात करते हुए कहा, ”मैंने दादा (साैरव गांगुली) के साथ कुछ समय गुजारा है। हम दोनों के बीच कई बार फोन पर बात हुई है। वह हमेशा शांत रहते हैं, मिलनसार हैं और अच्छी बातचीत के लिए हमेशा तैयार रहते हैं।” स्मिथ ने 2002 में नेटवेस्ट के फाइनल में जीत के बाद गांगुली द्वारा टी शर्ट को उतार कर हवा में लहराकर जश्न मनाने के वाकये को याद करते हुए कहा, ”यह दिखाता है कि दादा कितने बेखाैफ रहते हैं। गांगुली को यह करते देखना सुखद था। यह उनके जुनून को दर्शाता है।”

ग्रीम स्मिथ

स्मिथ ने आगे कहा, “यह दिखाता है कि भारत की जीत सौरव गांगुली के लिए कितनी मायने रखती थी खासकर इंग्लैंड में। वहां नेटवेस्ट ट्रॉफी में मिली चुनौतियों को पार पाना उनके लिए अहम था। घर के बाहर आकर जीत हासिल करने से भारतीय क्रिकेट को नई दिशा मिली। मुझे लगता है कि वह एक दृश्य है, जिसकी वजह से हम सभी आज इसकी चर्चा कर रहे हैं।”

 

उन्होंने कहा, ”यह बताता है कि भारत के लिए जीत कितनी मायने रखती है। इंग्लैंड में नेटवेस्ट ट्रॉफी में इंग्लैंड को हराना बड़ी बात थी।” स्मिथ को 22 साल की उम्र में 2003 में नेशनल टीम का कप्तान बनाया गया था। गांगुली और स्मिथ का एक-दूसरे से कम ही मुकाबला हुआ। स्मिथ ने कहा कुछ ही मौके हैं जब वे एक-दूसरे के पास गए। क्या गांगुली ने स्मिथ को भी स्टीव वॉ की तरह टॉस के लिए इंतजार करवाया? इस पर स्मिथ ने कहा, ”नहीं उन्होंने ऐसा नहीं किया।”

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.