नॉर्थईस्ट रीजन के खून में होता है फुटबॉल- रोछरजेला

0

आई-लीग क्लब आईजोल एफसी में अपने शानदार प्रदर्शन से सभी को प्रभावित करने वाले रोछरजेला अगामी सीजन में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) के क्लब नार्थइस्ट यूनाइटेड के लिए खेलेंगे।

आईजोल एफसी के लिए पिछले सीजन रोछरजेला का प्रदर्शन दमदार रहा। पूरे सीजन वह एक विंगर के तौर पर खेले 15 मैचों में छह शानादार गोल करने के साथ-साथ कुल 442 पास दिए। इस दौरान उनकी पासिंग एक्यूरेसी 72 परसेंट रही।

एक वेबसाइट बातचीत के दौरान रोछरजेला ने कहा कि उनका मानना है कि इंडिया के नॉर्थईस्ट इलाके से ताल्लुक रखने वाले लोग फुटबॉल के टैलेंट के साथ ही पैदा होते हैं। उन्होंने कहा, “नॉर्थईस्ट रीजन के लोग फुटबॉल को टैलेंट लेकर पैदा होते हैं, यह उनके खून में होता है।”

“मैं अपने स्कूल दिनों से ही एक प्रोफेशनल फुटबॉलर बनना चाहता था। उस उम्र में मिजोरम के कई लड़के फुटबॉल को एक करियर के रूप में देखते हैं और इंडिया की नेशनल टीम के लिए खेलने का सपना देखते हैं। मैंने भी ऐसे ही सपना देखना शुरू किया था।”

रोछरजेला ने आईजोल एफसी के साथ ही अपने करियर की शरुआत की थी और उनके खेल को एक अच्छी दिशा प्रदान करने में आई-लीग क्लब का बहुत बड़ा योगदान रहा है। आईजोल एफसी में शुरू से ही यह परंपरा रही है कि वे अपने राज्य के खिलाड़ियों को उभरने का काफी मौका देटे हैं और उनपर काफी मेहनत करते हैं।

उन्होंने बताया, “जब हमारी सीनियर टीम ने 2016-17 में आई-लीग टाइटल जीता था तब मैं अंडर-18 टीम का हिस्सा था। उस समय हमारे क्लब का माहौल काफी अच्छा था। वह सच में काफी प्रेरित करने वाला था।”

Rochharzela

रोछरजेला ने आईजोल एफसी में खेलते समय कई अहम मौकों पर गोल किए। उन्होंने गोकुलाम केरला के खिलाफ अपना डेब्यू किया और एक अहम गोल करते हुए अपनी टीम को 3-2 से महत्वपूर्ण जीत दिलाई। उन्होंने कहा, “मेरे खेल में सबसे ज्यादा मजबूत पक्ष मेरी तकनीक है लेकिन मुझे बॉल को आगे लेकर जाने के लिए अपनी स्पीड पर काम करना पड़ेगा। ट्रेनिंग सेशन के दौरान मैं अपनी शूटिंग स्किल्स पर बहुत काम करता था। बॉल पासिंग भी बहुत महत्वपूर्ण है, लेकिन मेरे लिए गोल करना भी उतना ही महत्वपूर्ण है क्योंकि इसी से मैच का फैसला होता है।”

युवा विंगर ने आईजोल एफसी के अपने कोच को भी धन्यवाद दिया और बताया कि उन्हें एक बेहतरीन प्लेयर बनाने में उनका बड़ा योगदान है। रोछरजेला ने कहा, “मेरे अकैडमी के दिनों में निकी मालस्वामजुआला ने मुझे कोचिंग दी। उन्होंने मेरे गेम में कमजोरियां ढूंढ़ने में मेरी मदद की और उस पर काम करके उसे मेरी ताकत में बदल दिया।”

“फिर आए स्टेनली रोजारियों जोकि मेरी लाइफ में एक बेहत महत्व्पूर्ण इंसान हैं। मैं शुरुआत में गोल नहीं कर पा रहा था लेकिन उन्होंने मुझे अपने बेटे की तरह सपोर्ट किया है और मुझे लगातार आगे बढ़ने के लिए प्रेरित किया। मेरे अंदर मौजूद सबसे बेहतर टेलेंट को बाहर निकालने में उन्होंने मेरी काफी मदद की है। मुझे लगता है कि वो भारत के सबसे अच्छे कोच में से एक हैं।”

रोछरजेला को उम्मीद है कि अब वह आईएसएल में भी अपने दमदार प्रदर्शन को जारी रखेंगे और अपनी नई टीम के साथ खिताब जीतेंगे। उन्होंने कहा, “मैं अपने क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करना चाहता हूं। अब मेरा एकमात्र लक्ष्य नार्थइस्ट यूनाइटेड के साथ आईएसएल का खिताब जीतना है।”

पिछले सीजन लीग में नॉथईस्ट यूनाइटेड का प्रदर्शन बेहद खराब रहा था और टीम प्लेऑफ में भी जगह नहीं बना पाई थी।

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.