जिम्बाब्वे के पूर्व कप्तान का बड़ा बयान धोनी से अच्छे विकेटकीपर बल्लेबाज थे दिनेश कार्तिक…

0

जिम्बाब्वे पूर्व कप्तान ततेंदा ताइबू  ने धोनी और दिनेश कार्तिक के बारे में खुलकर बातें की है अपने यूट्यूब चैनल पर उन्होंने धोनी विकेटकीपिंग और बल्लेबाजी के बारे में बताया है।

23 दिसंबर 2004, ये वो तारीख है, जब धोनी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था, बांग्लादेश के खिलाफ डेब्यू से पहले उन्होने इंडिया ए के लिये जबरदस्त प्रदर्शन किया था, वो सीरीज जिम्बॉब्बे से हुई थी, उस सीरीज में धोनी को जिम्बॉब्बे के पूर्व कप्तान ततेंदा ताइबू ने खेलते देखा था, ताइबू ने उस सीरीज को याद करते हुए बड़ी बात कही है, उन्होने कहा कि जब माही को पहली बार देखा था, तो वो दिनेश कार्तिक से कम स्वाभाविक विकेटकीपर बल्लेबाज लगे थे।

जिम्बॉब्बे के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज ने एक यू-ट्यूब चैनल से बात करते हुए कहा कि मैंने जब पहली बार धोनी को देखा था, तो वो इंडिया ए के साथ जिम्बॉब्बे दौरे पर आये थे, मुझे लगा कि कार्तिक धोनी से ज्यादा स्वाभाविक विकेटकीपर बल्लेबाज हैं, कार्तिक विकेट के आगे और पीछे ज्यादा स्वाभाविक लगते हैं।

ततेंदा ताइबू 

धोनी कभी भी विकेटकीपिंग की प्रैक्टिस नहीं

ततेंदा ताइबू ने धोनी की तकनीकी क्षमता का जिक्र करते हुए कहा कि माही जब विकेटकीपिंग करते हैं, तो उनका तरीका थोड़ा अलग होता है, आमतौर पर कीपिंग के समय विकेटकीपरों के दानों हाथों की छोटी अंगुली एक साथ होती है, लेकिन धोनी ऐसा नहीं करते हैं, लेकिन अलग तकनीक के साथ भी वो जबरदस्त कैच पकड़ते हैं और पलक झपकते ही गिल्लियां बिखेर देते हैं, मालूम हो कि धोनी नेट पर कभी भी विकेटकीपिंग की प्रैक्टिस नहीं करते थे, वो हमेशा गेंदबाजी या बल्लेबाजी की ही प्रैक्टिस करते हैं।

और पढ़े: क्रिकेटर जिसके नाम से पूरा स्टेडियम गूंजता था, उसे सरकार ने दी जान से मारने की धमकी

धोनी ने सब बदलकर रख दिया

ततेंदा ताइबू ने कहा की धोनी की बल्लेबाजी के साथ भी ऐसा ही है, उनकी तकनीक अलग है, लेकिन आंख-हाथ का सामंजस्य और मानसिक मजबूती कमाल की है, आमतौर पर अगर आपका तरीका अलग है, तो कोच बदलाव लाने के लिये कहते हैं, लेकिन धोनी के आंकड़ों ने सबको गलत साबित कर दिया, माही ने 90 टेस्ट मैचों में 38 से ज्यादा के औसत से 4876 रन बनाये हैं, जिसमें 6 शतक भी शामिल है, वहीं वनडे में उन्होने 50 के ज्यादा से औसत से 10773 रन बनाये हैं, टी-20 में 37 से ज्यादा के औसत से 1617 रन ठोके हैं।

ततेंदा ताइबू 

विकेटकीपिंग की प्रैक्टिस से गिलक्रिस्ट का खेल निखरा

ऑस्ट्रेलिया के दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज एडम गिलक्रिस्ट के बारे में पूछे जाने पर ततेंदा ताइबू ने कहा कि गिलक्रिस्ट नैसर्गिक बल्लेबाज थे, विकेटकीपर नहीं, वो बल्लेबाजी की तुलना में विकेटकीपिंग की ज्यादा प्रैक्टिस करते थे, जिससे उनका खेल निखरा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.