Thursday, July 29, 2021
Homeक्रिकेटदुनिया का इकलौता क्रिकेटर, जिसकी फोटो नोट पर छपी, भारतीय कप्तान को...

दुनिया का इकलौता क्रिकेटर, जिसकी फोटो नोट पर छपी, भारतीय कप्तान को खून दिया

विश्व क्रिकेट में एक से एक महान खिलाड़ी हुए हैं, जिन्होंने अपने खेल से महानता की चरम पराकाष्ठा हासिल है। जिसमें डॉन ब्रेडमैन से लेकर सुनील गावस्कर, सर रिचर्ड हैडली, विवियन रिचर्ड्स, कपिल देव, सचिन तेंदुलकर, ब्रायन लारा और महेंद्र सिंह धोनी जैसे खिलाड़ियों का नाम आता है। लेकिन आज तक किसी क्रिकेटर की तस्वीर उसके देश की नोट यानी करेंसी पर नहीं छपी है।

फ्रैंक वॉरेल को मिली है जगह

वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान फ्रैंक वॉरेल दुनिया के एक मात्र ऐसे क्रिकेटर हैं, जिनकी तस्वीर उनके देश की करेंसी पर छप चुकी है। 1 अगस्त सन् 1924 को जन्में फ्रैंक ने 1941 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट में कदम रखा था। वह मैदान पर बेहद खतरनाक ऑलराउंडर के रूप जाने जाते थे, लेकिन मैदान से बाहर वह जिंदादिल इंसान थे।

भारतीय कप्तान को दिया खून

सन् 1948 में टेस्ट क्रिकेट में डेब्यू करने वाले फ्रैंक वॉरेल ने सन् 1962 में भारतीय टीम के कप्तान नारी कॉन्ट्रैक्टर की जान बचाने में अहम योगदान दिया था। वेस्टइंडीज के दौरे पर गई भारतीय कप्तान को चोट लगी और उन्हें अस्पताल में भर्ती होना पड़ा। जहां उन्हें खून की जरूरत पड़ी थी, तब फ्रैंक ने जिंदादिली दिखाते हुए उन्हें खून देने सीधे अस्पताल पहुंच गए थे।

वेस्टइंडीज के पहले अश्वेत कप्तान

फ्रैंक वॉरेल वेस्टइंडीज के पहले अश्वेत कप्तान बनाए गए थे, क्योंकि उससे पहले वेस्टइंडीज क्रिकेट में अंग्रेजों का वर्चस्व हुआ करता था। बेहतरीन बल्लेबाजी के लिए मशहूर फ्रैंक ने वेस्टइंडीज का नेतृत्व भी शानदार तरीके से किया और टीम को नए आयाम दिए।

1967 में हो गया निधन

फ्रैंक वॉरेल ने अपने करियर का आखिरी टेस्ट मैच सन् 1963 में खेला था, जिसके 4 वर्ष बाद 13 मार्च 1967 में उनका निधन हो गया। फ्रैंक उम्र मात्र 42 वर्ष थी, लेकिन उन्होंने खेल के प्रति उच्चस्तरीय योगदान दिया था। उनकी लोकप्रियता ये आलम था कि उन्हें सेंट्रल बैंक ऑफ बारबडोस ने सम्मान देने के लिए अपनी करेंसी पर उनकी तस्वीर छापी थी। इस तरह वह पहले व एकमात्र क्रिकेटर बने थे, जिनकी तस्वीर देश की मुद्रा पर छपी।

ऐसा रहा उनका करियर

फर्स्ट क्लास में फ्रैंक वॉरेल ने 208 मैचों में 54.24 की औसत से 15025 रन बनाए, जबकि इस दौरान उनके नाम 39 शतक और 80 अर्धशतक दर्ज रहे। वहीं गेंदबाजी में 208 मैचों में 28.98 की औसत, 2.26 की इकोनॉमी और 349 विकेट भी झटके। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फ्रैंक ने 51 टेस्ट मैचों में 49.48 की औसत से 3860 रन बनाए, जहां 261 रनों का उच्चतम स्कोर के साथ 9 शतक और 22 अर्धशतक ठोके। गेंदबाजी में 51 मैचों में 38.72 की औसत, 2.24 की इकोनॉमी और 69 विकेट झटके।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments