Sunday, August 1, 2021
Homeक्रिकेटउत्तर प्रदेश से आए इन 5 क्रिकेटरों ने किया भारत का नाम...

उत्तर प्रदेश से आए इन 5 क्रिकेटरों ने किया भारत का नाम रोशन

उत्तरप्रदेश भारत का सबसे घनी आबादी वाला राज्य हैं. इस राज्य ने भारतीय क्रिकेट को कई बड़े क्रिकेटर दिए हैं, जिन्होंने अन्तराष्ट्रीय स्तर पर अपने प्रदर्शन से देश का नाम रोशन किया हैं. आज इस लेख में हम उत्तरप्रदेश के ऐसी ही 5 क्रिकेटरों के बारे एमी जानेगे.

1) आरपी सिंह

वर्ल्ड कप 2007 में भारत की ऐतिहासिक जीत में यादगार प्रदर्शन करने वाले आरपी सिंह भी उत्तरप्रदेश से हैं. कंसिस्टेंट प्रदर्शन न कर पाने की वजह से उनका करियर बेहद छोटा रहा हैं. सिंह ने भारत के लिए 14 टेस्ट, 58 वनडे और 10 टी-ट्वेंटी खेले हैं.

रायबरेली में जन्म आरपी सिंह ने भारत के लिए 40 टेस्ट, 69 वनडे और 15 अन्तराष्ट्रीय टी20 विकेट अपने नाम किया हैं.

2) मोहमम्द कैफ

अंडर19 वर्ल्ड कप 2000 में भारत को चैंपियन बनाने के बाद कैफ को अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू का मौका मिला था हालाँकि 2002 में इंग्लैंड के विरुद्ध नेटवेस्ट ट्रॉफी के फाइनल में नाबाद 87 रनों की पारी खेलने के बाद वह रातों रात स्टार बन गए थे.

इलाहाबाद के मोहमम्द कैफ ने भारत के लिए 13 टेस्ट और 125 वनडे खेले हैं, इस दौरान उन्होंने क्रमश: 624 और 2753 रन बनायें.

3) प्रवीण कुमार

प्रवीण कुमार भारत के सबसे सफल स्विंग गेंदबाजों में से एक रहे हैं हालाँकि लगातार चोटिल रहने के कारण उनका करियर बेहद छोटा रह गया. 2008 में भारत ने ऑस्ट्रेलिया की सरजमी पर कॉमनवेल्थ बैंक सीरीज जीती हैं, इस दौरान कुमार की स्विंग गेंदों पर कंगारू बल्लेबाजों की नींदे उड़ा दी थी.

मेरठ ने प्रवीण ने भारत के लिए 6 टेस्ट, 68 वनडे और 10 टी-ट्वेंटी खेले हैं, जिस दौरान उन्होंने क्रमश: 27, 77 और 8 विकेट लिए हैं.

4) भुवनेश्वर कुमार

भुवनेश्वर कुमार वर्तमान में भारत की टीम के मौजूदा स्पेशलिस्ट स्विंग गेंदबाज हैं. कुमार अकेले गेंदबाज हैं, जिन्होंने सचिन तेंदुलकर को घरेलू क्रिकेट में शून्य के स्कोर पर आउट हुए हैं.

मेरठ से आने वाले भुवि ने भारत के लिए 21 टेस्ट, 114 वनडे और 43 टी-ट्वेंटी खेले हैं, जिस दौरान उन्होंने क्रमश: 63,132 और 41 बल्लेबाजों का शिकार किया हैं.

5) सुरेश रैना

भारत के लिए एक शानदार बल्लेबाज के रूप में शुरुआत करने वाले खब्बू बल्लेबाज वर्तमान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में वापसी के लिए जूझ रहे हैं. रैना की सबसे बड़ी कमजोरी शोर्ट गेंदे रही हैं.

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास लेने से पहले, रैना ने भारत के लिए कई यादगार प्रदर्शन किये हैं. उत्तर प्रदेश के मुरादनगर से वाले रैना ने 226 एकदिवसीय मैच खेले, जिस दौरान उन्होंने 5615 एकदिवसीय रन बनाये जबकि उन्होंने अपने डेब्यू टेस्ट में शतक लगाने के साथ-साथ 768 टेस्ट रन बनाए.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments