वर्ल्कप खेल चुके इन 5 खिलाड़ियो अभी तक नही मिला टेस्ट मैच खेलने का मौका

0

टेस्ट फॉर्मेट क्रिकेट का सबसे चुनौतीपूर्ण प्रारूप हैं. हालाँकि आईसीसी वनडे वर्ल्ड कप क्रिकेट का सबसे बड़ा टूर्नामेंट हैं. भारत की टीम ने एमएस धोनी की कप्तानी में आईसीसी टेस्ट मैक और वनडे वर्ल्ड कप दोनों जीते हैं.

कई क्रिकेटरों को 50 ओवरों के प्रारूप में और भारत के लिए टेस्ट मैच क्रिकेट में लंबे करियर का सौभाग्य मिला है, लेकिन कुछ अनलकी खिलाड़ियों ने अपने देश के लिए वनडे तो खेला लेकिन टेस्ट डेब्यू का मौका कभी नहीं मिल पाया. आज इस लेख में हम भारत के 5 ऐसे सक्रिय क्रिकेटरों के बारे में जानेगे, जिन्होंने आईसीसी वर्ल्ड कप तो खेला लेकिन अभी तक एक भी टेस्ट नहीं खेल पाए हैं.

1) केदार जाधव

Kedhar jadhav

केदार जाधव को अपने ऑलराउंडर के बाद आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 की टीम में चुना गया था लेकिन जाधव टूर्नामेंट के 7 मैचों की 6 पारियों में एक अफगानिस्तान के विरुद्ध एक अर्द्धशतक सहित सिर्फ 80 रन ही बना पाए थे. प्रतियोगिता के दौरान उन्हें सिर्फ 6 ओवर गेंदबाजी का मौका ही मिल पाया था.

2013-14 रणजी ट्रॉफी सीजन में सबसे अधिक 1223 रन बनाने वाले जाधव अब तक 64 वनडे और 9 टी20 खेले हैं लेकिन अभी तक टेस्ट डेब्यू का इंतजार कर रहे हैं.

2) युजवेंद्र चहल

yuzvendra chahal

युजवेंद्र चहल भी आईसीसी वर्ल्ड कप 2019 का हिस्सा थे थे हालाँकि वह जाधव की अपेक्षा ज्यादा सफल रहे थे. चहल ने टूर्नामेंट ने 5.97 की दमदार इकॉनोमी दर से 12 विकेट झटके थे. चहल सिमित ओवर क्रिकेट में भारत के नंबर 1 स्पिनर हैं लेकिन टीम मैनेजमेंट और कप्तान टेस्ट में रविचंद्रन अश्विन और रवीन्द्र जडेजा के साथ कुलदीप यादव मौका देता हैं, जिसके कारण चहल अभी तक टेस्ट डेब्यू नहीं कर पाए हैं.

3) यूसुफ पठान

Yusuf  Pathan

यूसुफ पठान की तकनीक एक बड़ा कारण है कि वह अभी तक टेस्ट डेब्यू नहीं कर पाए हैं, हालाँकि दुलीप ट्रॉफी 2010 के फाइनल में उन्होंने वेस्ट ज़ोन के विरुद्ध तूफानी दोहरा शतक लगाते हुए 536 रनों का लक्ष्य हासिल किया था. घरेलू क्रिकेट में कंसिस्टेंट ऑलराउंड प्रदर्शन के बाद उन्हें वर्ल्ड कप 2011 में खेलने का मौका मिला था. लेकिन उनका प्रदर्शन टूर्नामेंट में साधारण रहा था, जिसके कारण वह जल्द ही टीम से बाहर हो गए.

4) रॉबिन उथप्पा

Robin Uthappa

टी20 वर्ल्ड कप 2007 में शानदार प्रदर्शन के बाद रॉबिन उथप्पा को वनडे वर्ल्ड कप 2007 में भी चुना गया था लेकिन उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा और सिर्फ 3 मैचों में 30 रन ही बना पाए थे. जिसके बाद उन्हें टीम से बाहर कर दिया गया था. उथप्पा ने भारत ने 46 वनडे खेले हैं लेकिन उन्हें रणजी ट्रॉफी में दमदार प्रदर्शन के बाद भी कभी टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिल पाया.

5) मोहित शर्मा

Mohit-Sharma

आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए दमदार प्रदर्शन के बाद मोहित शर्मा को वर्ल्ड कप 2015 की टीम में चुना गया था. मोहित ने टूर्नामेंट में शानदार प्रदर्शन करते हुए 13 विकेट झटके थे लेकिन टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध सेमीफाइनल में हार झेलनी पड़ी थी. मोहित ने भारत के 26 वनडे और 8 अन्तराष्ट्रीय टी20 खेले हैं लेकिन उन्हें कभी भी टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिल पाया.

आपको ये पोस्ट कैसी लगी नीचे कमेंट करके अवश्य बताइए। इस पोस्ट को शेयर करें और ऐसी ही जानकारी पड़ते रहने के लिए आप हमें सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम पर को फॉलो करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.