Thursday, July 29, 2021
Homeक्रिकेटक्रिकेट इतिहास में शानदार वापसी करने वाली टॉप 5 टीमें

क्रिकेट इतिहास में शानदार वापसी करने वाली टॉप 5 टीमें

खेल की प्रत्येक बड़े टूर्नामेंट से पहले टीमें कड़ी मेहनत करती हैं लेकिन कई बार नतीजे उम्मीदों के मुताबिक नहीं आ पाते हैं. जिसके कारण कुछ टीमों का मनोबल टूट जाता हैं जबकि कुछ टीमें खराब प्रदर्शन से सीख लेजर और भी अधिक मेहनत करती हैं. आज इस लेख में हम क्रिकेट इतिहास में शानदार वापसी करने वाली टॉप 5 टीमों के बारे में जानेगे.

5) इंग्लैंड

ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में खेले गए आईसीसी वर्ल्ड कप 2015 में इंग्लैंड की टीम बांग्लादेश से हारकर पहले राउंड से ही बाहर हो गयी थी. जिसके बाद टीम को आलोचनाओ का शिकार होना पड़ा हैं.

इस हार के बाद इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड ने कड़े फैसले किये और खराब प्रदर्शन करने वाले एलिस्टर कुक और इयान बेल जैसे सीनियर खिलाड़ी को वनडे टीम से बाहर कर दिया और 2019 में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए एक मजबूत टीम तैयार की. इसका परिणाम ये हुआ कि इंग्लैंड वर्तमान में मौजूदा वर्ल्ड कप चैंपियन हैं.

4) ऑस्ट्रेलिया

2018 में ऑस्ट्रेलिया क्रिकेट टीम बॉल टेम्परिंग कांड में दोषी पायी गयी थी, जिसके बाद टीम के 3 प्रमुख खिलाड़ी स्टीव स्मिथ, डेविड वॉर्नर और कैमरोन बैनक्रॉफ्ट को बैन झेलना पड़ा था.

स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर की गैरमौजूदगी के दौरान टीम को कई बड़ी हार झेलनी पड़ी. लेकिन अपने खिलाड़ियों की वापसी के साथ टीम ने शानदार वापसी की और एशेज सीरीज जीती और न्यूजीलैंड और पाकिस्तान जैसी टीमों को हराया. वर्तमान में ऑस्ट्रेलिया की टीम टेस्ट रैंकिंग में नंबर 1 पर हैं.

3) भारत

वनडे वर्ल्ड कप 2007 में भारत को बांग्लादेश और श्रीलंका के विरुद्ध शर्मनाक हार के बाद पहले राउंड से ही बाहर होना पड़ा था. दरअसल ये पहला मौका था जब टीम ग्रुप स्टैग से बाहर होना पड़ा था. इस हार के बाद सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, राहुल द्रविड़ और सहवाग बड़े खिलाड़ियों को फैन्स के गुस्सा का शिकार होना पड़ा था.

लेकिन इसके बाद बीसीसीआई ने कड़े फैसले लिए और टी20 वर्ल्ड कप 2007 के लिए युवा एमएस धोनी को कप्तान बनाया और भारत ने हार के बाद शानदार वापसी करते हुए पहला टी20 वर्ल्ड कप अपने नाम किया.

2) चेन्नई सुपर किंग्स

स्पॉट फिक्सिंग में नाम आने के बाद चेन्नई सुपर किंग्स पर 2 साल का बैन लगाया था. जिसके कारण आईपीएल 2016 और 2017 में सीएसके नहीं खेल पायी थी.

बैन के बाद टीम ने मजबूत से वापसी की और 2018 में चेन्नई सुपर किंग्स ने एक मजबूत टीम बनायीं और तीसरी बार आईपीएल खिताब अपने नाम किया.

1) साउथ अफ्रीका

साउथ अफ्रीका ने 1889 में अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट टीम का दर्जा हासिल कर लिया था. जिसके बाद टीम ने वर्षो तक इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध टेस्ट क्रिकेट खेला था.

फिर 1970 में, एक ऐसी घटना हुई जिसने पूरी अफ्रीकी टीम को क्रिकेट से दूर कर दिया. अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से अफ्रीका के बाहर जाने का कारण दक्षिण अफ्रीका की अपनी सरकार की मनमानी नीतियां थीं. दक्षिण अफ्रीकी सरकार की रंगभेद नीति में, कुछ नियम बनाए गए, जिन्होंने आईसीसी को दुविधा में डाल दिया.

सरकारी नियमों के अनुसार, देश की टीम को केवल सफेद देशों (इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड) के खिलाफ खेलने की अनुमति थी. इसके अलावा, यह शर्त थी कि विपक्षी टीम में केवल सफेद खिलाड़ी ही खेलेंगे. ऐसी स्थिति में आईसीसी को दक्षिण अफ्रीका क्रिकेट पर प्रतिबंध लगाना पड़ा. दक्षिण अफ्रीका की टीम 21 साल के प्रतिबंध के बाद 10 नवंबर, 1991 को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में लौटी और 1992 के विश्व कप में खेली गई टीम ने आठ में से पांच मैच जीते और सेमीफाइनल में अपनी जगह बनाई.

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments